CG के युवाओं के लिए 46 हजार नौकरियां:रायपुर में 22 दिसंबर से तीन जगहों पर लगेगा रोजगार मेला, 28 नामी कंपनियां देंगी जॉब

प्रदेश के युवाओं को रोजगार का मौका मिल रहा है। बेरोजगारों को 46 हजार 616 पदों पर भर्ती में शामिल होने का अवसर मिल रहा है। बीते 10 दिसंबर तक इस भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। अब आवेदकों के लिए 22 दिसंबर को रोजगार मेला लगाया जा रहा है। ये कैम्प सुबह 10ः30 बजे से शाम 4 बजे तक जारी रहेगा।

जिला रोजगार विभाग की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक ये कैम्प शासकीय आई.टी.आई. सड्डू, लाईवलीहूड कॉलेज-जोरा और गर्ल्स पॉलिटेक्निक कॉलेज रायपुर में लगने वाले कैम्प में शामिल होंगे। खबर है कि 10 हजार से अधिक लोगों ने रायपुर जिले से इस भर्ती के लिए आवेदन किया है। लाईवलीहुड कॉलेज जोरा में 28 कंपनियां,शासकीय आई.टी.आई. सड्डू में 25 और गर्ल्स पॉलिटेक्निक कॉलेज में 15 कंपनी के एम्पलॉयर उपस्थित रहेंगे।

ये भी पढ़िए- 42 हजार से अधिक युवाओं को मिलेगी नौकरी:दुर्ग जिले में आज मेगा रोजगार मेले का आयोजन, 70 से अधिक कंपनी लेंगी इंटरव्यू

यहां देखें आवेदन
नए आवेदक इस भर्ती से जुड़ी अन्य जानकारियां जिला प्रशासन रायपुर की वेबसाइट raipur.gov.in एवं रोजगार विभाग की वेबसाईट cgemployment.gov.in से हासिल कर सकते हैं। बाहरी जिलों में भी इस भर्ती के लिए अलग-अलग तारीखों पर कैम्प लगेंगे। पुराने पुलिस हेड क्वार्टर कैम्पस में जिला रोजगार कार्यालय से भी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

प्रदेश के बाहर की कंपनियां दे रही नौकरी
जिला रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र और कौशल विकास प्राधिकरण मिलकर इस भर्ती कैम्प का आयोजन करेगा। मकसद है छत्तीसगढ़ राज्य के शिक्षित एवं प्रशिक्षित बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार मुहैया कराना।

इस पूरी प्रक्रिया में प्रदेश के बाहरी राज्यों जैसे, महाराष्ट्र, गुजरात में भी युवाओं को रोजगार के अवर मिलेंगे। बाहरी राज्यों ने भी प्रदेश के कौशल विकास प्राधिकरण को इसके लिए संपर्क किया है। प्रदेश के बाहर जाकर काम करना है या नहीं ये आवेदक को चुनना होगा। इस पूरी भर्ती प्रक्रिया में 200 से अधिक कंपनियां शामिल हैं।

कितनी मिलेगी सैलेरी क्या होगी क्वालिफिकेशन
रोजगार कार्यालय सूत्रों के मुताबिक इस मेगा प्लेसमेंट में योग्यता अनुभव और शैक्षणिक योग्यता के आधार पर काम दिया जाएगा। जहां ट्रेनिंग की जरुरत होगी ट्रेनिंग भी मिलेगी। इसके जरिए रोजगार पाने वालों को 7 हजार से लेकर 20 हजार तक की सैलेरी वाली नौकरियां मिलेंगी। कई कंपनियां अलग-अलग भत्ते और रहने, खाने की सुविधाएं भी देंगी।

विशेष रोजगार कार्यालय की उपसंचालक डॉ शशिकला अतुलकर ने बताया कि आई.टी.आई, पॉलिटेक्निक, इंजीनियरिंग पास दिव्यांग आवेदकों को प्राथमिकता दी जायेगी। जिसके लिए शैक्षणिक योग्यता 8वीं, 10वीं, 12वीं स्नातक, स्नातकोत्तर ,आई.टी.आई. पॉलिटेक्निक और इंजीनियरिंग उत्तीर्ण आवेदक शामिल हो सकते है।

इन सेक्टर्स में मिलेगी नौकरियां

Apparel (परिधान) – 12800 Vacancies
Banking (बैंकिंग और वित्‍तीय) – 255 Vacancies
IT-Ites (सूचना एवं प्राैद्योगिकी सक्षम सेवाएं) – 2805 Vacancies
Healthcare (स्‍वास्‍थ्‍य सेवा) – 150 Vacancies
Tourism and hospitality (पर्यटन और आतिथ्‍य) – 3055 Vacancies
Logistics (संभार तंत्र) – 1801 Vacancies
Manufacturing (उत्‍पादन) – 18628 Vacancies
Retails (खुदरा) – 6480 Vacancies
Security (सुरक्षा/बचाव) – 642 Vacancies
प्रदेश में रोजगार के कुछ और खबर हैं..

42 हजार से अधिक युवाओं को मिलेगी नौकरी

दुर्ग जिले में अब तक का सबसे बड़ा रोजगार मेला आयोजित किया जा रहा है। बुधवार 21 दिसंबर को शासकीय आईटीआई पावर हाउस और सेक्टर लाईवलीहुड कॉलेज में आयोजित इस रोजगार मेला में 70 से अधिक संस्थान इंटरव्यू लेने पहुंच रहे हैं। ये कंपनियां 42 हजार से अधिक युवाओं को देंगी।

जिला रोजगार कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक रोजगार सृजन का अब तक का सबसे बड़ा काम दुर्ग जिले में होने जा रहा है। 42 हजार 50 पदों को भरने के लिए मेगा रोजगार मेला का आयोजन 21 दिसंबर को होगा। सुबह साढ़े दस बजे से यह रोजगार मेला आयोजित होगा। मेले में देश के विभिन्न राज्यों के 70 से अधिक निजी कंपनियां हिस्सा लेंगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप मेगा रोजगार मेला का आयोजन हो रहा है। इसमें छत्तीसगढ़ के भीतर और राज्य के बाहर भी अच्छी जॉब पाने की संभावना होगी।

संचालक रोजगार एवं प्रशिक्षण के मार्गदर्शन हो रहा आयोजन

उपसंचालक जनशक्ति नियोजन राजकुमार कुर्रे ने बताया कि वृहद रोजगार मेले के आयोजन का निर्णय राज्य स्तर पर लिया गया है। संचालक रोजगार एवं प्रशिक्षण अवनीश शरण के मार्गदर्शन में विभागीय अधिकारियों ने प्रदेश और प्रदेश के बाहर के नियोक्ताओं से संपर्क किया और इस कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की। पूरी खबर पढ़िए

CGPSC की परीक्षाएं 12 फरवरी से

CGPSC स्टेट सर्विस एग्जाम 12 फरवरी से होने जा रहे हैं। 20 दिसंबर को आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो गई। देर रात तक CGPSC की वेबसाइट से प्रदेश के 1 लाख 40 हजार के करीब युवाओं ने आवेदन किए हैं। 210 पदों के लिए इस तादाद में युवा परीक्षा देंगे। पूरी भर्ती प्रक्रिया में आरक्षण की स्थिति स्पष्ट नहीं हैं, इसके बाद भी CGPSC के क्रेज में कोई कमी नहीं है।

जानकारी के मुताबिक पिछली बार प्रारंभिक परीक्षा (प्री एग्जाम) के लिए 1.29 लाख फार्म मिले थे। इस बार ये तादाद बढ़ गई है। प्रारंभिक परीक्षा के बाद मुख्य परीक्षा के लिए कुल पदों की तुलना में 15 गुना उम्मीदवारों का चयन होगा। यानी 210 पदों के अनुसार मुख्य परीक्षा (मेंस) के लिए 3150 उम्मीदवार चुने जाएंगे, इसे क्लियर करने वाले आगे इंटरव्यू के जाएंगे और उसके बाद मेरिट के आधार पर कैंडिडेट सिलेक्ट होंगे।

19 विभागों के 210 पद

इस बार 19 विभागों के प्रस्ताव के आधार पर यह भर्ती हो रही है। कुल 210 पद भरे जाएंगे। डिप्टी कलेक्टर के लिए 15 पोस्ट हैं। लेकिन डीएसपी के केवल 8 पद हैं। पिछली बार डीएसपी के 30 पोस्ट थे। अफसरों का कहना है कि प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी शुरू हो गई है।

राज्य के 28 जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे। इनमें रायपुर, राजनांदगांव, दुर्ग-भिलाई, जगदलपुर, अंबिकापुर, बैकुंठपुर (कोरिया), बलौदाबाजार, बिलासपुर, दंतेवाड़ा, धमतरी, दुर्ग-भिलाई, जगदलपुर, जांजगीर-चांपा, जशपुर, कांकेर, कबीरधाम, कोरबा, महासमुंद, नारायणपुर, रायगढ़, रायपुर, राजनांदगांव, बलरामपुर, सुरजपुर, मंुगेली, गरियाबंद समेत अन्य शामिल । पूरी खबर पढ़ें

बेरोजगारी की मार झेल रहे बी-टेक, MBA और PG डिग्रीधारी

बेरोजगारी की मार झेल रहे बी-टेक, MBA और PG डिग्रीधारी युवाओं की रोजगार में मेले में भीड़ उमड़ पड़ी। अलग-अलग प्राइवेट कंपनियों ने उन्हें 45 हजार रुपए सैलरी देने का दावा किया था। लेकिन, जब इंटरव्यू की बारी आई, तब उन्हें 20 से 25 हजार रुपए देने की बात कही। वहीं, युवाओं से ऑनलाइन फार्म जमा कराने के बाद भी उन्हें वेकेंसी फूल होने का बहाना कर दिया गया। बाद में उन्हें टैक्सटाइल, माइक्रो फाइनेंस कंपनी और सिक्युरिटी गार्ड का ऑफर दिया गया। ऐसे में हायर एजुकेशन डिग्रीधारी बेरोजगार बिना फार्म जमा किए ही वापस लौट गए।

दरअसल, सोमवार को बिलासपुर में आयोजित संभाग स्तरीय रोजगार मेले में आने वाली कंपनियों ने युवाओं को प्रति माह 45 हजार रुपए सैलरी देने का का दावा किया था। ऐसी कंपनियों के झांसे में आकर युवक-युवती जब आवेदन जमा करने पहुंचे तो कंपनी के अधिकारियों ने इंटरव्यू में उन्हें शुरूआत में दस हजार रुपए सैलरी देने की बात की। इस पर बेरोजगार युवकों को बिना आवेदन जमा किए ही वापस लौटना पड़ा। हाई क्वालिफाइड कई युवकों को प्राइवेट जॉब और पद पसंद नहीं आया। इस मेले में मास्टर डिग्रीधारी बेरोजगारों को फाइनेंस कंपनी में फिल्ड वर्क और सेल्समेन जैसे पद के लिए आवेदन करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow Us

Follow us on Facebook Follow us on Twitter Subscribe us on Youtube