2.66 करोड़ का लोन पास करने की बात कहकर ठगी करने वाला नकली मैनेजर गिरफ्तार

शुभम शर्मा – दुर्ग | 2 करोड़ 66 लाख का लोन पास करा देने का झांसा देकर 66 लाख की ठगी करने वाले फरार कथित बैंक डिविजन सेल्स एग्जीक्यूटिव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी विशाल सोनी उर्फ डागेन्द्र पुलिस की नजरों से बचने के लिए किराए के मकान में रहता था। पुलिस को भनक लगते ही उसे 32 एकड़ जामुल में दबोच लिया। आरोपी के खिलाफ धारा 420,34 के तहत में अपराध दर्ज है। उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया।

उतई थान प्रभारी सतीश पुरिया ने बताया कि उतई परेवाडीह निवासी पुनीत राम निषाद (62 वर्ष) की 4 एकड़ जमीन का सौदा सेक्टर-7 के कमलनाथ राजभर से कर रजिस्ट्री किया था। रकम को चेक के माध्यम से बैक में ट्रांसफर करना था। कमलनाथ राजभर ने बैंक मैनेजर बताकर विशाल सोनी को लाया। 2 करोड़ 66 लाख रुपए लोन कमलनाथ के नाम से फाइनेस हो गया है बोलकर एक्सीस बैंक का फोटो कॉपी चेक पुनीत को दिखाया। उसके झांसे में आकर पुनीत ने 20 फरवरी 2020 को कमलनाथ के नाम पर रजिस्ट्री कर दिया। इसके बाद कमलनाथ ने उसे चेक नहीं दिया। बरगलाते हुए सात माह निकाल दिया था। शिकायत पर कमलनाथ राजभर को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। विशाल सोनी फरार था।

पुलिस को झांसा देकर निकल गया था विशाल

शिकायत के बाद पुलिस ने कथित बैंक मैनेजर विशाल को पूछताछ के लिए थाना बुलाया था। विशाल पुलिस को चकमा दे गया। पुलिस की पूछताछ में उसने बताया था कि नेहरु नगर ब्रांच इंडिया सेल्टर फायनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड का डिविजनल सेल्स इक्जीक्यूटीव हूं। पुलिस उसके ठाटबाट से झेंप गई थी। उसे लोन का असली चेक और बैंक के डाक्यूमेंट लेकर आने कहा। इस बीच बड़ी सफाई से पुलिस की चंगुल से भाग निकला था। इसके बाद पुलिस को छकाता रहा।

मोबाइल और पद्भनाभपुर स्थित घर को छोड़कर फरार हो गया। 32 एकड़ जामुल में किराए से रहने लगा था। पुलिस को सुराग मिलते ही अल सुबह उसके घर पर छापा मारा और उसे दबोच लिया। एएसपी ग्रामीण लखन पटले ने बताया कि बैंक कर्मचारी बनकर लोन दिलाने के नाम पर लोगों के साथ ठगी करता था। फरार आरोपी को गिरफ्तार किया है। धोखाधड़ी के मामले में कार्रवाई की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow Us

Follow us on Facebook Follow us on Twitter Subscribe us on Youtube